Breaking

सोमवार, 16 सितंबर 2019

सितंबर 16, 2019

भारत को चांद पर पहुंचाने वाला आम बेचकर पहुंचा इस जगह तक ?

भारत को चांद पर पहुंचाने वाला आम बेचकर पहुंचा इस जगह तक ?

Chandrayaan 2 Dr Kailasavadivoo Sivan ISRO Chief life at a glance Rocketman ...
आम बेचकर पढ़े और भारत को चांद पर पहुंचा दिया

भारत के मिशन चंद्रयान 2 के बारे में दुनिया जानती है, दुनिया के लोग यह भी जानते हैं चंद्रयान 2 का ऑर्बिटर तो चंद्रमा के चारों और चक्कर काट रहा है, लेकिन विक्रम लैंडर से वैज्ञानिकों का संपर्क टूट गया है पूरी प्रक्रिया में एक आदमी प्रधानमंत्री के गले लगते हुए दिखा  जिनका नाम है के सीवन इसरो यानी इंडियन स्पेस रिसर्च ऑर्गनाइजेशन (भारतीय अंतरिक्ष रिसर्च संगठन) के मुखिया यह वो आदमी जिसने वह कारनामा करके दिखाया इसे करने की कोशिश अब तक कोई भी देश नहीं कर पाया है! मैं आदमी अपनी कोशिशों में कामयाब नहीं हो पाया लेकिन उसने और उसकी टीम ने जो कर दिखाया है, अब पूरी दुनिया उसकी मिसाल दे रही हैं, लेकिन के सीवन का सफर इतना आसान नहीं रहा है उनके संघर्ष की कहानी थोड़ी लंबी है
बाजार में आम बेचकर चूकाते थे स्कूल की फीस ?
के सीवन कैलाशवादिवू सीवन कन्याकुमारी में पैदा हुए हैं, इनका जन्म: 14 अप्रैल 1957 मैं हुआ (आयु 62 वर्ष) उनकी पत्नी का नाम मालाथि के सीवन हैं, के के सीवन का परिवार करीब था इतना की  के सीवन की पढ़ाई की लिए भी पैसे नहीं थे, काम के ही सरकारी स्कूल में पढ़ते थे तमिल भाषा में आठवीं क्लास तक वहीं पर पढ़ाई की आगे की पढ़ाई के लिए गांव से बाहर निकलना था लेकिन घर में पैसे नहीं थे के सीवन को पढ़ने के लिए फीस झुटानी थी इसके लिए उन्होंने पास के बाजार में आम बेचना शुरू किया जो पैसे मिलते से उससे मेरी फीस भरते!
इसरो चीफ के सिवन ने नहीं मानी हार, ट्वीट कर कही ये बात -
 विक्रम लैंडर से वैज्ञानिकों का संपर्क टूट गया है

के सीवन ने अपने बारे में क्या बताया ?

उन्होंने बताया था कि मैं एक गरीब परिवार में पैदा हुआ था मेरे बड़े भाई ने पैसे ना होने की वजह से मेरी पढ़ाई रुकवा दी. मेरे पिता कैलाशा वादिवू एक किसान थे, मैं साइकिल पर आम लेकर जाता था और वह वह बाजार बेचकर कर मेरी पढ़ाई की फीस भरते थे, आम बेचकर के सीवन ने इंटरमीडिएट तो कर लिया,
लेकिन ग्रेजुएशन के लिए और पैसे चाहिए थे, ऐसे ना होने की वजह से के पिता ने कन्याकुमारी के नागर कुल के हिंदू कॉलेज में दाखिला करा दिया. जब वह हिंदू कॉलेज मैं मैथ्स मैं bsc करने पहुंचे तो पैरों में चप्पले आई धोती कुर्ता और चप्पल इससे पहले के सीवन के पास कभी इतने पैसे नहीं हुए थे कि वो अपने लिए जोड़ी चप्पल खरीद सके!
 रॉकेट मैन / चंद्रयान-2 की कमान संभालने वाले सिवन के पिता ...
प्रधानमंत्री के गले लगते हुए दिखा  जिनका नाम है के सीवन इसरो यानी इंडियन स्पेस रिसर्च ऑर्गनाइजेशन

मैथ्स मैं 100 - 100 नंबर लेकर आए. और फिर उनका मन बदल गया अब उन्हें मैथ्स की नहीं साइंस की पढ़ाई करनी थी, इसके लिए वह पहुंच गए mit यानी मद्रास इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी वहां उन्हें स्कॉलरशिप मिली वहां उनने हवाई जहाज बनाने वाली रॉकेट बनाने वाली पढ़ाई होती हे उसमें बीटेक किया और उसके बाद 14 जनवरी 2015 को के सीवन को इसरो कामख्या नियुक्त कर दिया
उसके बाद इसरो ने 15 फरवरी 2017 को एक साथ 104 सेटेलाइट अंतरिक्ष में भेजे ऐसा करके इसरो ने वर्ल्ड रिकॉर्ड बना दिया उसके बाद इस रखा सबसे बडा मिशन था आज चंद्रयान 2 जिसको 22 जुलाई 2019 को लांच किया गया, चंद्रयान तो हिस्सों में बट गया पहला हिस्सा था ऑर्बिटर जिसने चंद्रमा की चक्कर लगाने शुरू कर दिए दूसरा हिस्सा जिसे विक्रम नाम दिया गया था इसे 6 सितंबर की रात चांद पर उतरना था सब ठीक-ठाक की अचानक संपर्क टूट गया उसके बाद जो हुआ वो सारी दुनिया ने देखा भावुक पल इसरो चीप नरेंद्र मोदी के गले लगकर रोने लगे लेकिन यह के सीवन है अपनी जिंदगी में भी परेशानियां जेलकर सफलता हासिल की अब थोड़ी बड़ी कामयाबी से थोड़ा चूक गए हैं लेकिन उम्मीद पर दुनिया कायम है हम एक दिन जरुर कामयाब होंगे 

शनिवार, 14 सितंबर 2019

सितंबर 14, 2019

चांद पर विक्रम लैंडर का पता चल गया वैज्ञानिकों ने दी खुशखबरी अब होगी कम्युनिकेशन चालू ?

चांद पर विक्रम लैंडर का पता चल गया वैज्ञानिकों ने दी खुशखबरी अब होगी कम्युनिकेशन चालू ? 

Why did Chandrayaan 2 launch?
 इसरो ने भी खुशखबरी मिल गया विक्रम लेंडर

चंद्रयान 2 चंद्रयान 2 बारे में एक बड़ी खबर निकलकर सामने आ रही हैं खबर ऐसी जो आपकी चेहरे पर खुशी ला देगी, कल जा इसरो की तरफ से जो खबर सुनकर हम सभी की आंखें भर आई थी! उसके बाद जो खबर आई जिसे सुनकर आपकी चेहरे पर खुशी आ जाएगी!
जो विक्रम लैंडर कल अपना रास्ता भूल गया था, कहीं और चला गया था, आज वह हमें मिल गया है! कैसी हालत में मिला है और कैसी हालत में मिला है आज हम आपको बताएंगे,
When was the Chandrayaan 2 launch?
ऑर्बिटर ने ली चांद पर उतरे विक्रम लेंडर की तस्वीर

दरअसल चंद्रयान 2 के साथ जो ऑर्बिटर गया था, जो चांद के चारों ओर चक्कर काट रहा है, उस ऑर्बिटल में लगा ऑप्टिकल हाई रेगुलेशन कैमरा OHRC ने विक्रम लैंडर की तस्वीरें लि है, पता चला है कि जहां विक्रम लैंडर को लेंडिंग कराने की योजना थी, वह उसे 500 मीटर दूर उत्तर गया है! वह अपना रास्ता भटक गया था लेकिन अब इसरो चीप कैसीवन मैं एक चैनल से बातचीत करते हुए बताया है की विक्रम लैंडर हमें मिल गया है!
हमारे वैज्ञानिकों ने उससे ढूंढ लिया है लेकिन अब तक दिक्कत क्या है कि हम विक्रम लैंडर तक संदेश नहीं भेज पा रहे हैं यानी कांटेक्ट नहीं कर पा रहे हैं! इसरो सेंटर से लगातार विक्रम लेंडर ऑफ ऑर्बिटर को लगातार संदेश भेजा जा रहा है! ताकि कम्युनिकेशन चालू हो सके,
Is Chandrayaan 2 a manned mission?
इसरो चीप कैसीवन ने बताया है की विक्रम लैंडर हमें मिल गया है!

दोस्तों कम्युनिकेशन चालू हो जाता है तो भारत अपने हर सपने को पूरा कर सकता है, इसरो के वैज्ञानिकों लगातार प्रयास कर रहे हैं साथ विक्रम लेंडर से और प्रज्ञान रोवर से जुड़ा जा सके! भविष्य में विक्रम लेंडर और प्रज्ञान रोवर इतना काम करेंगे इसका पता तो डेटाएनालाइज के बाद ही पता चलेगा! ऑर्बिटर अपना काम अच्छे तरीके से कर रहा है,ऑर्बिटल में लगा ऑप्टिकल हाई रेगुलेशन कैमरा से जो विक्रम लेंडर की जो तस्वीरें ली गई हैं,
जो चांद की सतह से ली गई! यह कैमरा चांद की सतह से 1.08 फिट तक किसी भी चीज की स्पष्ट तस्वीर ले सकता हैं, ऑर्बिटर नहीं जो तस्वीर लिए उन्हीं से पता चला कि विक्रम लेंडर को जहां लेंडिंग करवानी थी वह उससे 500 मीटर दूर उत्तर गया! हम भगवान से प्रार्थना करते हैं कि जल्द से जल्द विक्रम लेंडर का कम्युनिकेशन सिस्टम चालू हो जाए! ताकि हमारा चंद्रयान टू मिशन सफल हो सके ?

सोमवार, 9 सितंबर 2019

सितंबर 09, 2019

सनी देओल के बेटे को क्या-क्या प्रॉब्लम आई स्कूल लाइफ में ऐसा किसी के साथ ना हो ?

सनी देओल के बेटे को क्या-क्या प्रॉब्लम आई स्कूल लाइफ में ऐसा किसी के साथ ना हो ?
Karan Deol News, Karan Deol की ताज़ा ख़बर, Karan ... -
सनी देओल के बेटे करण देओल ने इतना क्यों झेलना पड़ा स्कूल लाइफ में

सनी देओल के बेटे हैं करण देओल अभी इनकी उम्र 28 साल और जल्द ही बॉलीवुड में डेब्यू करने वाले हैं, पल पल दिल के पास फिल्म उनकी रिलीज होने वाली है! आजकल यह बहुत ज्यादा खबरों में हैं फिल्म से लेकर नहीं, स्कूल लाइफ के एक्सपीरियंस को लेकर है! दरअसल करण देओल अपने बचपन के एक्सपीरियंस को शेयर करते हुए" उन्होंने बताया कि किस तरह उन्हें स्कूल में परेशान  किया जाता था! सनी देओल का बेटा होने की वजह से लोगों ने तंग करते थे

करण देओल ने क्या कहा है ? 

स्कूल कि मेरी पहली याद तब की जब में फ़र्स्ट ग्रेड में था स्पोर्ट्स कॉन्पिटीशन चल रहा था और मैंने रेस में हिस्सा लिया था, मैं वह खड़ा था और तभी बड़े लड़के वहां आ गए और मुझे गेर लिया और उनमें से एक ने मुझे उठा लिया और हर किसी के सामने मुझे पटक दिया! और मुझसे पूछा कि तुम्हें यकीन है कि तुम्हें सनी देओल की बेटे हो तुमसे तो लडा भी नहीं जाता मैं बहुत शर्मिंदा हुआ वहां से मेरी राह और भी ज्यादा मुश्किल हो गई,
ज्यादातर बच्चे या तुम मुझे जज करते या मेरा मजाक बनाते, यहां तक कि टीचर्स भी ऐसे ही थे, एक बार मैंने साइमन में ठीक से काम नहीं किया तो भरी क्लास में एक टीचर मेरे पास आई और तुम केवल अपने पिता के चेक लिखने लाइक हो, और कुछ भी कहने के लायक नहीं हो ! केवल मेरी मां मुझे सपोर्ट कर रही थी वह मुझे वह मुझे कहती रही बोलो वह ऐसी बातें इस लिए कह रहे हैं क्योंकि वह असल में ऐसे ही है !
सनी देओल के बेटे करण देओल ने साइन की दूसरी फिल्म | ...
करण देओल सनी देओल के बेटे

मां की ही बात मुझे हौसला देती रही उसके लिए हिम्मत रखो और मुझे अपने पैरों पर खड़ा होना था मुझे हार मानने की जगह जवाब देना था मुझे यह समझना था कि मेरे अलावा कोई और यह फैसला नहीं कर सकता की मेरी कीमत क्या है! मेरी केवल एक ही पहचान थी कि मैं सनी देओल का बेटा हूं यह सब उस वक्त बाहर आ गया जब मैं स्टेज पर था! 

शुक्रवार, 6 सितंबर 2019

सितंबर 06, 2019

रानू मंडल जिनका गाना गाकर फेमस हुई कहां है आजकल किस हालत में है वह लेखक ?

रानू मंडल जिनका गाना गाकर फेमस हुई कहां है आजकल किस हालत में है वह लेखक ?

रानू मंडल ने स्टूडियो में इस तरह जीता हिमेश
एक प्यार का नगमा है मोजो की रवानी है इस गाने को लिखने वाले लेखक

रानूू मंडल एक मेने पहले तक रेलवे स्टेशन पर गाना गाती थी, जो पैसे मिलते से उससे अपना पेट पालती थी किसी ने उनका गाना एक प्यार का नगमा हे रिकॉर्ड करके facebook पर अपलोड कर दिया, वीडियो वायरल हुआ रानूू मंडल फेमस हो गई अब वो फिल्मों के लिए गाने का रही ! इसी बीच यह खबर आई की प्यार का नगमा है यह गाना जिसने लिखा वह लेखक खुद गुमनामी की जिंदगी जी रहा है,
लेखक का नाम है संतोष आनंद उनका गाना गा कर रानू मंडल star गई लेकिन संतोष कहां हैं यह कोई नहीं जानता था गुमनामी वाली खबरें आई तो संतोष तक भी पहुंची और फिर वो खुद सामने आए और इन खबरों का खंडन किया!
  ranu mandal wins himesh reshammiya heart in studio watch inside video - रानू मंडल ने स्टूडियो में इस तरह जीता हिमेश ... -
संतोष आनंद कवि सम्मेलनों में हिस्सा लेते हुए

संतोष आनंद मैं क्या कहा

संतोष ने facebook पर एक वीडियो अपलोड किया उन्होंने उस वीडियो में बताया कि वह एकदम ठीक है, और चीज जिंदगी की रहे हैं उन्होंने कहा कि सूरह भारत को बहुत बहुत प्रणाम दो दिन से आप सभी लोगों ने मेरे लिए चिंता जताई हैं तो मुझे लगा कि मेरे लिए बहुत बडा प्यार है आप सभी का मैंने हमेशा प्यार ही किया है और करता रहूंगा कोई आगे बढ़ता है तो मुझे बहुत खुशी होती है,
इन दिनों जिस-जिस कार्यक्रम में में गया मुझे तो घंटे से पहले उठने नहीं दिया गया मेरा लिखा एक गाना है (एक प्यार का नगमा है मोजो की रवानी है) मैं इसका ने का फैला शब्द खाता हूं तो पूरी जनता खड़ी हो जाती है, मुझे पूरा गीत सुना देती है इस बीच में इतने भी अंंतरे हैं वो सब याद ही लोगों को बच्चों से लेकर ढूंढो आज छोटे-छोटे बच्चे भी सुनाते हैं मैं खुश होता हूं मेरे लिए यह बहुत बड़ा पुरस्कार है !
बेटे की मौत के बाद गुमनाम है 'एक प्यार का नग़मा' लिखने ...
इतने बड़े कलाकार अब किस हालत में हैं और कहां है


संतोष आनंद कहां है और कैसे हैं

साल 1970 से लेकर 1995 तक फिल्मों के लिए बेहतरीन गाने लिखने वाले संतोष आनंद इस वक्त दिल्ली में हैं वह सुखदेव विहार कॉलोनी के एक फ्लेट मेे मैं रहते हैं फिल्म दुनिया से काफी दूर किसी जमाने में हर वक्त एक्टिव रहने वाले संतोष ठीक से चल भी नहीं पाते थोड़ी हिम्मत करके वॉकर की मदद से कुछ कदम चल पाते हैं व्यक्तिगत तौर पर वो बहुत ज्यादा नुकसान जैल चुके हैं साल 2014 मैं उनके बहू और बेटे ने कथथ तौर पर सुसाइड कर लिया इस घटना के गाव संतोष के दिल में आज भी मौजूद है,
संतोष का जन्म उत्तर प्रदेश के सिकंदराबाद दिल्ली में होने वाले कवि सम्मेलन में हिस्सा लेते थे कविताएं भी लिखते थे, पहली बार फिल्म के गाना लिखने का ऑफर मिला 1970 में (पूरब पश्चिम) फिल्म मैं गाना लिखा उसके बाद कई फिल्मों में गाने के लिए ऑफर आए उन्होंने कहीं फिल्मों में ऐसे सुपर हिट गाने लिखे हैं जो लोग आज भी सुनना पसंद करते हैं और वह गाने दिल को छू जाने वाले हैं उन गानों में अंतरे एक कुछ ऐसे हैं कि लोगों का मन नहीं भरता 

बुधवार, 4 सितंबर 2019

सितंबर 04, 2019

आखिरकार रानू मंडल को किसने घर गिफ्ट किया पूरी सच्चाई आपके साथ ?

आखिरकार रानू मंडल को किसने घर गिफ्ट किया पूरी सच्चाई आपके साथ ?

रानू मंडल को घर किसने गिफ्ट किया? पता ...   क्या सलमान खान ने रानू मंडल को गिफ्ट किया 55 लाख ...
 रानू मंडल को किसने घर गिफ्ट किया 
रानू मंडल -  कुछ दिनों से सुर्खियों में पैसे बागान के रानागार्ड  रेलवे स्टेशन पर गाना गाने वाली एक प्यार का नगमा है गाना गाते वक्त रानू मंडल का किसी ने वीडियो बनाकर facebook पर अपलोड कर दिया ! वह वीडियो देखते ही देखते वायरल होता गया उसके बाद वह रियलिटी शो के नजर में आ गई, ऐसे ही एक शो पर हिमेश रेशमिया ने अपनी फिल्म Happy Haroy And Heer ने एक गाना ऑफर कर दिया !
रानू का हिमेश रेशमिया के साथ तेरी मेरी कहानी का वीडियो भी वायरल हुआ, कुछ दिनों पहले रानू मंडल की एक खबर आई की रानू की गायकी से पसंद होकर सलमान खान ने 55 लाख का घर गिफ्ट किया हैं, न्यूज़ सबसे मीडिया पर आती सबसे ज्यादा फैल गई, बाद में पता चला सलमान खान और रानू मंडल के बारे में बातचीत चल रही थी वह फर्जी थी !
Lata Mangeshkar On Ranu Mandal Populatrity says   रानू मंडल ने हिमेश रेशमिया के साथ गाया ... -  रानू मंडल की बेटी का खुलासा, बताया ... - Hindustan
हिमेश रेशमिया ने अपनी फिल्म Happy Haroy And Heer
हालांकि यह बात सच है रानू मंडल के लिए कर बनवाया जा रहा है, पर लेकिन जिगर सलमान खान नहीं बनवा रहे, तो सवाल उठ रहा है कि आखिर वे काम करवा कौन कहां है, अंग्रेजी अखबार हिंदुस्तान टाइमस मैं रानू मंडल को फोन लगाया! जब अखबार ने रानू मंडल से इस बारे में पूछा तो उन्होंने फोन अतिद्र चक्रवर्ती को पकड़ा दिया अतिद्र रानू मंडल के मैनेजर है! केवही जिन्होंने रानू मंडल का रेलवे स्टेशन पर गाने गाते हुए वीडियो बनाकर facebook पर अपलोड किया,
उन्होंने इस तरह की न्यूज़ को नकार दिया नई कहा कि यह सेठ न्यूज़ यह अफवाह फैलाने मेरे पास बहुत सारे फोन आए रानू को इस तरह का कोई ऑफर नहीं दिया गया है, रानू मंडल के लिए जो कर बनवाया जा रहा है वह रानाघाट प्रशासन की तरफ से दिया गया है जिन चलाने में लाइव परफॉर्मेंस की उसने पानी प्रशासन के साथ मिलकर आधार कार्ड बनवाने मैं उनकी मदद की ?
रानू मंडल को लता मंगेशकर ने दी नसीहत, बोलीं- 'कॉपी करने से बस अटेंशन मिलती है, लंबे समय तक सफलता नहीं'
अतिद्र चक्रवर्ती रानू मंडल के मैनेजर है!


रानू मंडल ने क्या कहा 

मुझे यह देख कर बहुत ही अच्छा लग रहा है कि लोग मुझ पर उतना प्यार बरसा रह  है मुझे पसंद कर रही है और मेरे साथ काम करना चाहते है, मैंने अपना सारा काम अतिद्र को संभालने के लिए दे रखा है उम्र में मेरे लिए सब कुछ समझना मुश्किल है, यहां तक कि मेरे पास फोन नहीं है अतिद्र मुझे हर चीज सिखा रहे है, वह मैं बेटे की तरह है! रानू मंडल पश्चिम बंगाल की है वह बचपन में ही मुंबई चली गई थी उसके बाद उनकी शादी वही के बाबुल मंडल से हो गई, उनके पति का देहांत होने के बाद वह वापस पश्चिम बंगाल लौट आई और अपना पेट पानी के लिए रेलवे स्टेशन पर गाना गाने लग गई ! सोशल मीडिया पर उनका वीडियो वायरल होने से वह स्टार बन गई हैं ! 

सोमवार, 26 अगस्त 2019

अगस्त 26, 2019

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की बात हिंदी में कैसे समझ पाए बेयर ग्रिर्ल्स

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की बात हिंदी में कैसे समझ पाए बेयर ग्रिर्ल्स

मन की बात: 'मैन वर्सेज वाइल्‍ड' में पीएम मोदी की हिंदी में ...
Man vs Wild शो मैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 

Discovery मैं Man vs Wild शो मैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को करोड़ों लोगों ने देखा लोगों ने देखा इस इस शो के होस्ट बेयर ग्रिर्ल्स प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अंग्रेजी में सवाल पूछ रहे थे! और प्रधानमंत्री मोदी उसका हिंदी में उत्तर दे रहे थे इसके बाद लोगों ने सवाल पूछना शुरू कर दिया है कि बेयर ग्रिर्ल्स ने प्रधानमंत्री मोदी की बात को कैसे समझा!
यह शो 12 अगस्त और दिखाए गया था Discovery चैनल पर 25 अगस्त को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपनी रेडियो कार्यक्रम मन की बात मैं लोगों की उत्सुकता का जवाब दिया !


 अगर आपको यह जानकारी पसंद आए तो  इसे आगे शेयर जरूर करें धन्यवाद जय हिंद वंदे मातरम

शनिवार, 24 अगस्त 2019

अगस्त 24, 2019

रेलवे स्टेशन पर गाना गाने से हुई फेमस छा गई सोशल मीडिया पर रानू मंडल

रेलवे स्टेशन पर गाना गाने से हुई फेमस छा गई सोशल मीडिया पर रानू मंडल

रेलवे स्टेशन पर गाना गाने से हुई फेमस छा गई सोशल मीडिया पर रानू मंडल
Ranu Mondal Viral Video

पश्चिम बंगाल - की रानू मंडल के साथ के साथ कुछ ऐसा ही हुआ है सानू मंडल कॉन हे आप जानते ही होंगे यह वही महिलाएं जिसका गाना सोशल मीडिया पर सबसे ज्यादा वायरल और आज महिला ट्रेन में गाना गाकर अपना पेट पालती है यह रोज की तरह ट्रेन में गाना गा रही थी तभी किसी ने एक वीडियो बनाया और उस थी 30 जुलाई को facebook पर डाल दिया गया! इसका वीडियो facebook पर 40 लाख से ज्यादा बार देख लिया गया है और 63 हजार से ज्यादा लोग इसे शेयर कर चुके हैं!
इस गाने की हर तरफ तारीफ हो रहे हैं क्योंकि यह गाना बहुत ही खूबसूरत इसे गाया गया कई बॉलीवुड कलाकारों ने इसकी तारीफ की है कि कोलकाता केरल मुंबई बांग्लादेश से भी लोगों के फोन आ रहे हैं! सभी लोग इन्हें गाना गाने के लिए बुला रहे हैं  रानू को मुंबई से भी खुद के गाने रिकॉड करने के ऑफर आ रहे हैं हालाकी इसकी अभी ऑफिशियल कन्फर्मेशन नहीं हुए हैं रेलवे स्टेशन पर गाना गाने से वह वीडियो रानू के जीवन को एकदम बदलकर रख दिया है

Lata Mangeshkar के गाने से फेमस हुईं रानू मंडल ने रियलिटी शो
रानू मंडल मेकअोवर

आपके मन में सवाल आया होगा कि इनके मेकअोवर के पीछे राज क्या है दरअसल रानू मंडल को हमें में एक शो सारे गा मा मैं गाने की लिए बुलाया गया से पहले उनका मेकअोवर बकायदा क्या गया रानू के मुंबई आने जाने का खर्चा भी रियलिटी शो वाले की उठा रहे! साथ ही उनको कहीं फैसिलिटी दी जा रही रानू मंडल पश्चिम बंगाल की बचपन में मुंबई जाने के बाद उनकी शादी वहीं के बाबुल मंडल से हो गई लेकिन पति के देहांत होने के बाद जानू वापस पश्चिम बंगाल लौट आई
लौटने के बाद वह पैसे कमाने के लिए सड़कों पर और रेलवे स्टेशन पर गाना गाने लगी तभी डीड में से किसी एक शक्स ने गाने की रिकॉर्डिंग कर ली और उसके बाद वीडियो को सोशल मीडिया पर डाल दिया! आज की डेट में एक इतनी फेमस हो गई हैं इसे कहते हैं पावर ऑफ सोशल मीडिय रानू मंडल की बॉलीवुड एंट्री का खुला राज, इस वजह से हिमेश रेशमिया ने उन्हें दिया गाने का ऑफर
पुराने पोस्ट मुख्यपृष्ठ